आकर्षित एवं मल्टी टैलेंटेड कलाकार ऋतिक रोशन
hritik roshan
ऋतिक रोशन को भारत का सबसे आकर्षित एवं मल्टी टैलेंटेड कलाकार माना जाता है।  हमने ऋतिक रोशन को मल्टी टैलेंटेड कलाकार इसलिए कहा है क्योंकि डांस और अभिनय के अतिरिक्त ऋतिक रोशन स्टेज परफॉर्मर और पार्श्व गायक भी है।

आज के समय में बॉलीवुड की दुनिया में ऋतिक रोशन सबके चहेते एवं सबसे मशहूर एवं लोकप्रिय अभिनेताओं में से एक हैं।  ऋतिक रोशन ने अपने आपको फिल्मी जगत में कई फिल्मों के द्वारा नई बुलंदियां प्राप्त की है।  ऋतिक रोशन के अंदर अच्छे कलाकारी करने का तो हुनर है ही, इसके अलावा  एक बेहतरीन डांसर भी हैं।  आज के समय में कुछ गिने-चुने ही ऐसे कलाकार हैं जो ऋतिक रोशन के जैसे कलाकारी के साथ-साथ अच्छा डांस भी कर सकने में सक्षम हैं फिल्मी जगत की दुनिया से ऋतिक रोशन को कई सारे सम्मान मिल चुके हैं।

आज के समय में ऋतिक रोशन को भारत का सबसे आकर्षित एवं मल्टी टैलेंटेड कलाकार माना जाता है।  हमने ऋतिक रोशन को मल्टी टैलेंटेड कलाकार इसलिए कहा है क्योंकि डांस और अभिनय के अतिरिक्त ऋतिक रोशन स्टेज परफॉर्मर और पार्श्व गायक भी है। फिल्मी जगत का यह सितारा अपने बचपन की उम्र से ही अभिनय करने में माहिर है और यह अभिनय अपने बाल काल की उम्र से ही करते रहे हैं।  ऋतिक रोशन ने अपनी पहचान बनाने के लिए सबसे पहले टेलीविजन के डांस प्रोग्राम में अपने डांस का प्रदर्शन किया था और अपने इसी डांस प्रदर्शन से उन्होंने अपनी शुरुआत की थी।

फिल्मी जगत के इस मल्टीटैलेंट सितारे का जन्म महाराष्ट्र के मुंबई में 10 जनवरी 1974 में एक पंजाबी परिवार में हुआ था।  ऋतिक रोशन के पिता का नाम राकेश रोशन है और यह फिल्म निर्माता के रूप में फिल्मी जगत में कार्य करते है।  ऐसे कलाकार को जन्म देने वाली मां का नाम पिंकी रोशन है। इनकी एक बड़ी बहन है जिनका नाम सुनैना रोशन है।  रोशन परिवार में ऋतिक रोशन के चाचा राजेश रोशन फिल्मी जगत में संगीत निर्देशक के रूप में कार्य करते है। रितिक की शुरूआती पढ़ाई बांबे स्कॉटिश स्कूल मुंबई से हुई। इसके बाद की पढ़ाई के लिए वे सिडेनहम कॉलेज चले गए जहां से उन्होंने कॉमर्स में स्नातक की डिग्री प्राप् की। स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद मास्टर्स की डिग्री के लिए वे यूएस चले गए।

ऋतिक रोशन का विवाह  20 दिसंबर  2000 को सुजैन खान के साथ हुआ था  मगर सुजैन और ऋतिक का विवाहित जीवन केवल 14 वर्षों तक ही चल सका।  ऋतिक रोशन का तलाक सन 2014 में हुआ था। सुजैन और ऋतिक के  रेहान और रिधान नाम के दो पुत्र है।  ऋतिक और सुजैन के तलाक के बाद ऋतिक का संबंध बॉलीवुड अभिनेत्री बारबरा मोरी से जोड़ा गया।  इस अभिनेत्री के अलावा ऋतिक रोशन का प्रेम संबंध फिल्मी जगत की सबसे प्रसिद्ध अभिनेत्री कंगना रानौत के साथ भी जोड़ा गया था।

 साल 2000 में राकेश रोशन द्वारा निर्मित और लिखित फिल्मकहो ना प्यार हैभारतीय सिनेमाघरों में रिलीज हुई थी।  इसी फिल्म के जरिए फिल्मी जगत के दो सितारों ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी इस फिल्म को भारतीय दर्शकों ने खूब पसंद किया था और यह फिल्म बड़े पर्दे पर सुपरहिट साबित हुई थी।  ऋतिक रोशन की पहली फिल्म सुपरहिट हो गई थी जिसकी वजह से उनका करियर काफी जल्दी सिनेमा जगत में उभरता हुआ नजर आया था।  इस फिल्म के लिए ऋतिक रोशन को बेस्ट डेब्यू और बेस्ट एक्टर का अवार्ड प्रदान किया गया था।

पहली फिल्म की सफलता के बाद ऋतिक रोशन ने कई बड़ी फिल्मों में काम किया जैसे :- फिजा, मिशन कश्मीर, कभी खुशी कभी गम, मुझसे दोस्ती करोगे, मैं प्रेम की दीवानी हूं, कोई मिल गया, लक्ष्य, कृष, धूम 2, जोधा अकबर, काइट्स, गुजारिश, जिंदगी ना मिलेगी दोबारा, अग्निपथ, कृष 3 और बैंग बैंग आदि कई प्रसिद्ध फिल्में ऋतिक रोशन ने फिल्मी जगत में दी है।  एक समय ऐसा था जब ऋतिक रोशन की कई फिल्में बॉक्स ऑफिस पर असफल होती चली जा रही थी। लेकिन ऋतिक रोशन ने हार नहीं मानी अपनी काबिलियत और अपने हुनर के दम पर अब तक कुल 237 से भी अधिक अवार्ड को भारतीय सिनेमा जगत से जीता है। ऋतिक को यूनाइटेड किंगडम में प्रकाशित बच्चों की पुस्तक "स्टोरीज़ फॉर बॉयज़ हु डेरड टू बी डिफरेंट" में एक उल्लेख मिला है। ऋतिक एकमात्र भारतीय अभिनेता हैं जिन्हें बराक ओबामा, जैकी चैन, यवेस सैंट लॉरेंट, रिकी मार्टिन जैसी वैश्विक हस्तियों के साथ संबोधित किया जाता हैं। हालही में ऋतिक के नाम एक और उपलब्धि हासिल हुई है।  तमिल नाडु के कक्षा 6 के "वैल्यू एजुकेशन" किताब में उनके नाम का एक मिसाल के रूप में उल्लेख किया गया है। उस बुक में "सेल् कॉन्फिडेंस" नाम का एक चैप्टर है जिसमें ऋतिक के सफर के बारे में बताया गया है।

ऋतिक रोशन के पूरे जीवन परिचय से हमें यह सीख मिलती है कि यदि आपके अंदर किसी भी प्रकार की कला है या फिर कोई ऐसी स्पेशलिटी है जिसके जरिए आप सफल हो सकते हैं तो उसका प्रयोग जीवन में सफल होने के लिए अवश्य करना चाहिए। अपने जीवन में अपनी कला को समझना चाहिए और अपने अंदर छुपे हुए कला को बाहर निकालना चाहिए।  अपने हुनर और अपनी काबिलियत के दम पर कोई भी इंसान थोड़ा परिश्रम करके अपने जीवन में सफलता को हासिल कर सकता है।

Share this story