चीनी ब्लॉगर ने फोटो खिंचवाकर अपने ही सैनिकों का कर दिया अपमान
चीनी ब्लॉगर ने फोटो खिंचवाकर अपने ही सैनिकों का कर दिया अपमान


बीजिंग । चीन ने एक ट्रैवल ब्लॉगर को सात महीने की सजा सुनाई है। उसने चीनी सैनिकों के स्मारक पर फोटो खिंचवाई थी, उस पर गलवान घाटी में मारे गए चीनी सैनिकों का अपमान करने का आरोप था। यह सजा उत्तर पश्चिमी चीन के झिंजियांग उइगर क्षेत्र के पिशान काउंटी के स्थानीय कोर्ट ने सुनाई है। यह भी आदेश दिया गया है कि 10 दिनों के अंदर ट्रेवल ब्लॉगर सार्वजनिक रूप से माफी भी मांगे।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, ब्लॉगर का नाम ली किजिआन है। वह सोशल मीडिया पर एक्टिव है। वह 15 जुलाई को इस समाधि स्थल पर गया था। यह समाधि स्थल काराकोरम पर्वतीय क्षेत्र में स्थित है। आरोप लगाया गया है कि वह उस पत्थर पर चढ़ गया था, जिसपर समाधि स्थल का नाम लिखा है। इसके अलावा उसपर आरोप है कि मारे गए जवानों की समाधि के पास खड़ा होकर वह स्माइल कर रहा था, साथ ही उसने समाधी की तरफ हाथ से पिस्टल बनाकर इशारा भी किया था।
तस्वीरें पोस्ट किए जाने के बाद लोगों ने इनपर आपत्ति जताई थी। जिसके चलते ली ने बाद में तस्वीरें डिलीट कर दीं। फिर स्थानीय पुलिस ने 22 जुलाई से मामले की जांच करना शुरू किया। ली के खिलाफ मुकदमा दायर किया गया था। मुकदमे के दौरान उन्होंने अपने किए को मानने से इनकार कर दिया था। हालांकि बाद में उन्हें अदालत ने सात महीने कैद की सजा सुना दी।

Share this story