जासूस निकला रक्षा मंत्री का हाउसकीपर, ईरान के लिए कर रहा था काम
जासूस निकला रक्षा मंत्री का हाउसकीपर, ईरान के लिए कर रहा था काम

तेल अवीव-DVNA। इजरायल ने देश के रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज़ के हाउसकीपर पर ईरान को सूचना देने के लिए मंत्री से निकटता का इस्तेमाल करने की पेशकश करने का आरोप लगाया गया है। इजरायल की घरेलू सुरक्षा एजेंसी को दी गई इस जानकारी के बाद हड़कंप मच गया। ओमरी गोरेन के रूप में पहचाने जाने वाले व्यक्ति का कथित तौर पर एक आपराधिक रिकॉर्ड है, लेकिन वह एक क्लीनर के रूप में रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज़ के घर पर काम करता था। उसकी गिरफ्तारी ने इजरायल के नेताओं तक पहुंच रखने वाले लोगों की पृष्ठभूमि की जांच पर सवाल खड़े किए हैं। गिरफ्तारी की घोषणा करने वाली शिन बेट सुरक्षा सेवा ने कहा कि वह अपनी जांच प्रक्रियाओं की समीक्षा कर रही है। सुरक्षा सेवा और अभियोग के अनुसार, गोरेन ने इजऱाइली मीडिया में ब्लैक शैडो नामक एक हैकर समूह के बारे में रिपोर्ट देखी। गोरेन ने अपने कंप्यूटर सहित गैंट्ज़ के घर में विभिन्न वस्तुओं की तस्वीरें भेजकर रक्षा मंत्री तक अपनी पहुंच समूह को बताई थी।
सरकार ने कहा कि गोरोचोव्स्की नाम से पहचाने गए गोरेन ने गैंट्ज़ के कंप्यूटर को मैलवेयर से इनफैक्ट करने पर चर्चा की, लेकिन किसी भी योजना को अंजाम देने से पहले उसे गिरफ्तार कर लिया गया। उसने कहा कि फिलहाल उसके पास वर्गीकृत मैटेरियल तक पहुंच नहीं थी।
गोरेन को चार मामलों में जेल की सजा सुनाई गई है, जिसमें सशस्त्र डकैती और घर में सेंध लगाना शामिल है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, गैंट्ज़ के लिए काम करने से पहले उसकी सुरक्षा समीक्षा नहीं की गई थी। इधर, गोरेन के पब्लिक डिफेंडर गैल वुल्फ ने कहा कि गोरेन बस पैसे कमाना चाहता था और उसका राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान पहुंचाने का कोई इरादा नहीं था। ब्लैक शैडो को ईरान से जोड़ा गया है और यह ग्रुप व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली वेबसाइटों पर हैकिंग हमलों की एक सीरीज के लिए जिम्मेदार है।

Share this story