आयुष से अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने के लिये विशेषज्ञों को शामिल करें: CM चौहान
आयुष से अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने के लिये विशेषज्ञों को शामिल करें: CM चौहान

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में आयुष विभाग की गतिविधियों को और अधिक प्रभावी बनाने के लिये टास्क फोर्स में देश के ख्याति प्राप्त विशेषज्ञों को शामिल कर उनके सुझाव लें। उन्होंने जल्द ही देवारण्य योजना की बैठक बुलाए जाने के भी अधिकारियों को निर्देश दिए। मुख्यमंत्री चौहान आज मंत्रालय में आयुष विभाग की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने कहा कि प्रदेश के वन औषधीय पौधों की संपदा से समृद्ध है। उनके बेहतर उपयोग किये जाने की जरूरत है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि विभाग की “वैद्य आपके द्वार” योजना को ग्रामीण क्षेत्रों में प्रभावी तरीके से लागू किये जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आयुष में अभी और अधिक रिसर्च किये जाने की आवश्यकता है। इसके लिये उन्होंने शोध विशेषज्ञों को प्रोत्साहित किये जाने की आवश्यकता बताई।

आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) कांवरे ने बताया कि विभाग में रिक्त पदों की भर्ती की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में योग से निरोग कार्यक्रम में करीब दो लाख लाभार्थियों को ऑनलाइन योगभ्यास कराया जा रहा है। प्रमुख सचिव करलिन खोंगवार देशमुख ने बताया कि आयुष आपके द्वार योजना में करीब 50 हजार व्यक्तियों को औषधीय पौधों का वितरण किया गया है। प्रदेश में 362 हेल्थ वेलनेस सेंटर संचालित किये जा रहें है। इसके साथ ही 400 नवीन हेल्थ वेलनेस सेंटर की ओर मंजूरी दी गई है। उन्होंने बताया कि आयुष से जुड़े महाविद्यालयों के प्रभावी संचालन के लिये नवीन आयुष विश्वविद्यालय की स्थापना का प्रस्ताव है। उन्होंने बताया कि आयुष विभाग ने आयुष्मान योजना को लागू करने के लिये प्रस्ताव तैयार कर केन्द्र सरकार को भेजा है। मुख्यमंत्री चौहान ने कोरोना की तीसरी लहर की संभावनाओं को देखते हुए आयुष की गतिविधियों को और मजबूती के साथ संचालित किये जाने के निर्देश दिए।

Share this story