हे मामा! आपके राज में दबंगों ने भांजी की आँखों में डाला कैमिकल
हे मामा! आपके राज में दबंगों ने भांजी की आँखों में डाला कैमिकल

पन्ना (DVNA)। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जो सत्ता पर काबिज होते ही भले ही वह स्वयंभू प्रदेश की भांजे-भांजियों के मामा बनने का ढिंढोरा पीट रहे हों लेकिन स्थिति यह है कि उनके ही राज्य में प्रदेश के स्वयंभू मामा के भांजे भांजियों पर जो अत्याचार हो रहे हैं उसकी वजह से प्रदेश में वह असुरक्षित हैं, मजे की बात तो यह है कि उनकी सुरक्षा का ढिंढोरा जरूर शिवराज सिंह पीटते हैं लेकिन आज तक उनके इस ढिंढोरे के बाद कि देश में मध्यप्रेश पहला राज्य है जिसमें प्रदेश के उन भांजियों के दुष्कर्म के आरोपियों को फांसी देने का ढिंढोरा पीटा जा रहा है लेकिन उसके बाद भी बुंदेलखण्ड के पन्ना जिले में उनकी भांजी पर दबंगों द्वारा लेकिन उसके बाद भी मामा का शासन यह दावा करता है कि शासन ने प्रदेश मे बढ़ रहे महिला अपराधों की रोकथाम के लिए कई कड़े कानून बनाये हैं। जिससे महिलाओं पर हो रहे अपराधों पर लगाम लगाई जा सके। इसके बाद भी पन्ना जिले के संवेदनशील थाना पवई अंतर्गत एक संवेदनशील मामला सामने आया है।
जहां पर रंजिश के चलते दबंगों ने युवती के ऊपर केमिकल डाल दिया। जिससे युवती बुरी तरह से घायल हो गई। कैमिकल के कारण युवती के आंखों पर असर पड़ा है, जिसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। जहां से युवती को उपचार के लिए सद्गुरु नेत्र चिकित्सालय जानकीकुण्ड चित्रकूट के लिए रिफर कर दिया गया। मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए जिला चिकित्सालय कलेक्टर ंसजय कुमार मिश्र व पुलिस अधीक्षक धर्मराज मीना पहुंचे, जहां पर युवती से मामले के संंबंध में जानकारी ली और उचित उपचार करने के निर्देश दिए। इस पूरे घटनाक्रम के संंबंध में बताया जाता है कि पवई थाना अंतर्गत ग्राम बराहो निवासी 20 वर्षीय युवती अपने भाई के साथ गल दिवस सुबह करीब आठ बजे अपने घर पर थी। इसी दौरान पड़ोसी सुस्मी राजा और गोल्डी राजा आए।
आरोपी ये कहकर दोनों को घर से ले गए कि उन्हें कुछ पूछताछ करनी है। इसके बाद आरोपी दोनों भाईबहन को सुनसान जगह ले गये और मारपीट की, इसी दौरान युवती के आंखों में कैमिकल डाल दिया। जिससे वह बुरी तरह दर्द से कराहती रह और घटना को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपी मौके से फरार हो गये। घटना की सूचना पवई थाना प्रभारी डीके सिंह को दी गइर्।
मौके पर पहुंची पुलिस ने युवती को उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया जहां से उसे जिला चिकित्सालस रेफर किया गया। युवती ने पुलिस को बताया कि आरोपियों के घर से कोई महिला बिना बताए कहीं चली गई है आरोपियों को शक था कि उसे भगाने में मेरा हाथ है, इसलिए उन्होंने वारदात को अंजाम दिया। मामले पर पुलिस ने आरोपीगण के विरुद्ध धारा 294, 323, 324, 5069, 5 ता.हि. के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया। विवेचना के दौरान धारा 326 ता.हि. का इजाफा किा गया और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम काम कर रही है।
युवती को देखने पहुंचे पुलिस अधीक्षक धम्रराज मीना ने घायल युवती ने बताया कि गांव के ही सुमेर और और गोल्डी राजा पहले इसको पकड़कर ले गए इसके बाद बदसलूकी की और उसकी अंाखों में घातक केमिकल डाल दिया। बताया जाता है कि इस युवती की मां बचपन में ही खत्म हो गई थी। छोटी सी दुकान चलाकर अपना भरण पोषण करती थी पर इस घटना ने उसका सब कुद छीन लिया दोनों आंखों में बुरा असर पड़ा है। युवती ने आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है, जिस पर पुलिस अधीक्षक ने आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर कार्यवाही करने की बात कही है।

Share this story