ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत 50 फीसदी से अधिक असंगठित श्रमिक कृषि क्षेत्र से
ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत 50 फीसदी से अधिक असंगठित श्रमिक कृषि क्षेत्र से

नयी दिल्ली। सरकार के ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकृत 8.43 करोड़ असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों में से आधे से अधिक कृषि क्षेत्र से हैं।
ई-श्रम पोर्टल पर 20 नवंबर 2021 तक पंजीकृत 8.43 करोड़ असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों में से 53.2 प्रतिशसत कृषि क्षेत्र से हैं। इसके बाद निर्माण क्षेत्र से 12.1 प्रतिशत, घरेलू और घरेलू कामगार क्षेत्र से 8.8 प्रतिशत, परिधान क्षेत्र से 6.3 और पूंजीगत सामान और विनिर्माण क्षेत्र से 3.3 प्रतिशत हैं।


श्रम एवं रोजगार मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सभी पंजीकृत श्रमिकों में से आधे से अधिक के लिए कृषि मुख्य व्यवसाय है। इसके अलावा कृषि श्रमिकों की दो महत्वपूर्ण उप-श्रेणियां फसल खेत मजदूर और फसल और सब्जी उत्पादक हैं। पोर्टल पर पंजीकृत असंगठित क्षेत्र की महिला श्रमिकों की संख्या कृषि क्षेत्र में 2.1 करोड़, घरेलू और घरेलू कामगार में 71 लाख, परिधान में 46 लाख, निर्माण में 23 लाख और विविध क्षेत्र में 17.98 लाख हैं।


मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, पुरुष श्रमिकों के लिए शीर्ष पांच व्यावसायिक श्रेणियां कृषि 2.3 करोड़, निर्माण 78 लाख, ऑटोमोबाइल और परिवहन 22.1 लाख, पूंजीगत सामान और विनिर्माण 18.9 लाख और विविध 7.7 लाख हैं। पिछले 12 सप्ताह में पोर्टल पर पंजीकृत असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों की आयुवार विश्लेषण बताता है कि 18-40 आयु वर्ग के श्रमिकों का हिस्सा सबसे अधिक है। इसके बाद आयु-समूह 40-50 के श्रमिकों का स्थान है।


ई-श्रम पोर्टल पंजीकरण के लिंग-वार विश्लेषण से पता चलता है कि पोर्टल के शुभारंभ के बाद पहले छह सप्ताह के दौरान पंजीकृत होने वाले श्रमिकों में पुरुष श्रमिकों का हिस्सा 51 प्रतिशत से अधिक है। हालांकि पिछले छह सप्ताह में पुरुष श्रमिकों की तुलना में महिला श्रमिकों की हिस्सेदारी अधिक हो गई है। इस तरह 20 नवंबर तक पंजीकृत हुए कुल श्रमिकों में से 48.2 प्रतिशत यानी चार करोड़ छह लाख 86 हजार 429 पुरुष कामगार और 51.8 प्रतिशत यानी चार करोड़ 37 लाख 713 महिला कामगार हैं।

Share this story