सुसज्जित और सुव्यवस्थित हों नये हमीदिया की व्यवस्थाएँ : मंत्री सारंग
सुसज्जित और सुव्यवस्थित हों नये हमीदिया की व्यवस्थाएँ : मंत्री सारंग

भोपाल :  चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने कहा है कि नये हमीदिया अस्पताल की व्यवस्थाएँ सुव्यवस्थित और सुसज्जित हो। उन्होंने कहा कि मरीज मित्र योजना के जरिये व्यवस्थाएँ ऐसी हो कि मरीजों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो और मरीजों का विशेष ख्याल रखा जाए। मंत्री  सारंग आज गांधी मेडिकल कॉलेज की साधारण सभा और निर्माण संबंधी बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

नये निर्माण के पहले सर्वे जरूर करें

मंत्री  सारंग ने कहा कि परिसर में छात्रों के लिए रिक्रियेशन सेंटर के साथ प्ले ग्राउण्ड भी तैयार किया जाये। भविष्य को ध्यान में रखते हुये छात्रावास और मल्टीलेवल पार्किंग की व्यवस्था तैयार की जाये। सारंग ने कहा कि परिसर में नये निर्माण कार्य के पहले सर्वे जरूर करवाये, जिससे किसी भी प्रकार की परेशानी भविष्य में न आएँ।

स्वशासी मद की आय बढ़ाने का हो प्रयास

मंत्री  सारंग ने कहा कि एक कमेटी बनाकर स्वशासी मद को बढ़ाने का प्रयास किया जाये। उन्होंने स्पष्ट किया कि मरीजों पर किसी भी प्रकार का अतिरिक्त भार न देते हुये बाउंड्रीवाल से लगी हुई व्यवसायिक दुकान निर्माण पर विचार किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि आडिटोरियम में गतिविधियों के लिये भवन शुल्क लेकर भी स्वशासी मद को बढ़ाया जा सकता है। मंत्री  सारंग ने कहा कि नॉलेज शेयरिंग मिशन के लिये अलग से मद बनाकर राशि आवंटित की जाए। साथ ही रिक्रियेशन सेंटर के लिये भी अलग से राशि का प्रावधान हो।

स्वच्छता के लिए हो रैंकिंग

मंत्री  सारंग ने कहा कि नवनिर्मित हमीदिया अस्पताल भी स्वास्थ्य सेवाओं में अग्रणी रहे। पूरे देश में नामी अस्पतालों में हमीदिया की पहचान बने, इसी सोच से काम करना होगा। उन्होंने स्वच्छता अभियान अगले सोमवार से शुरू करने और प्रति सप्ताह उसका आंकलन करने के निर्देश दिये। हर सोमवार रैंकिंग के आधार पर उसमें सहयोग करने वाले स्वास्थ्य कर्मी का सम्मान किया जायेगा। अभियान में विभागाध्यक्ष से लेकर वार्ड बॉय सभी शामिल हो।

मंत्री  सारंग ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आभार व्यक्त करते हुये कहा कि आयुष्मान योजना और मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान मद से जरूरतमंद मरीजों के इलाज में सहायक सिद्ध हो रही है।

Share this story