हॉकी के प्रेमियों के लिए मुख्यमंत्री का तोहफा, दुर्ग में बनेगा एस्ट्रोटर्फ
हॉकी के प्रेमियों के लिए मुख्यमंत्री का तोहफा, दुर्ग में बनेगा एस्ट्रोटर्फ

दुर्ग :   हॉकी के प्रेमियों के लिए दुर्ग में एस्ट्रोटर्फ की घोषणा आज मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने की। मुख्यमंत्री ने गंज मंडी में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि सबा अंजुम की तरह ही हाकी की अन्य प्रतिभाएं भी दुर्ग जिले में निखरे, इसके लिए एस्ट्रोटर्फ आवश्यक है। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने दुर्ग निगम के विभिन्न कार्यों के लिए दस करोड़ रुपए की राशि की घोषणा भी की। अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि दुर्ग जिले के सर्वांगीण विकास के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। यहां अधोसंरचना के क्षेत्र में बड़े कार्य किये जा रहे हैं। आज मैंने जिला चिकित्सालय में सर्जिकल यूनिट और हमर लैब का लोकार्पण किया। जिला अस्पताल को काफी अपग्रेड किया गया है और यहां बेहतरीन सुविधाएं दी जा रही हैं। जो महंगे टेस्ट निजी पैथालाजी लैब में हो पाते थे, हमर लैब आरंभ हो जाने से वो अब यहां हो सकेंगे। स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों के माध्यम से हमने अंग्रेजी की शिक्षा उन लोगों के लिए भी सुनिश्चित की जो बच्चों को अंग्रेजी में शिक्षित करना चाहते थे लेकिन प्राइवेट स्कूलों में महंगी फीस नहीं भर पा रहे थे उनके लिए गुणवत्तापूर्वक शिक्षा सुनिश्चित की गई है। उन्होंने कहा कि सभी जनप्रतिनिधियों के मानदेय में वृद्धि की गई है। नागरिक सुविधाओं के विस्तार के लिए हर संभव कार्य किये जा रहे हैं। इस मौके पर गृह और पीडब्ल्यूडी मंत्री  ताम्रध्वज साहू ने भी संबोधन दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने नागरिक सुविधाओं के लिए उपयोगी सभी सड़कों की स्वीकृति दी जिसके वजह से पूरे प्रदेश में सड़क अधोसंरचना संबंधी कार्य बड़े पैमाने पर हो रहे हैं। दुर्ग शहर में भी तेजी से मुख्यमार्ग के चौड़ीकरण और सौंदर्यीकरण का कार्य हो रहा है। उन्होंने कहा कि विधायक  अरुण वोरा भी नागरिक जरूरतों से संबंधित अपने सरोकार रखते हैं। वे प्रस्ताव रखते हैं और मुख्यमंत्री इन जरूरतों को देखते हुए इन्हें स्वीकृत करते हैं इससे दुर्ग का विकास तेजी से हो रहा है। अपने संबोधन में कृषि मंत्री  रविंद्र चौबे ने कहा कि दुर्ग शहर में नागरिक अधोसंरचना के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य हुआ है। इससे नागरिक जीवन बहुत बेहतर हुआ है। अपने संबोधन में नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव डहरिया ने कहा कि मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने नागरिक जीवन को बेहतर बनाने अधोसंरचना के क्षेत्र में जो कार्य किये, उससे छत्तीसगढ़ के शहरों की तस्वीर निखरी है। अपने संबोधन में विधायक  अरुण वोरा ने कहा कि मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल दुर्ग के विकास के प्रति गहन सरोकार रखते हैं। जब भी उनके समक्ष नागरिक विकास के प्रस्ताव रखे गये, उन्होंने प्रस्तावों को स्वीकृत किया। यही कारण है कि दुर्ग जिले में आज अधोसंरचना के बड़े कार्यों का लोकार्पण हो सका है। इस मौके पर कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि आज मुख्यमंत्री के प्रवास के दौरान जिले में 223 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन हुआ है। इस दौरान महापौर  धीरज बाकलीवाल सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। संभागायुक्त महादेव कांवड़े, एसएसपी  बद्रीनारायण मीणा सहित अन्य अधिकारी भी इस मौके पर उपस्थित रहे। 

मुख्यमंत्री द्वारा जल जीवन मिशन के तहत जल बहिनियो को बैच प्रदाय किया गया। पृथ्वी दिवस के अवसर पर बहिनियो द्वारा मुख्यमंत्री को पौधा दे कर सम्मनित किया गया। मुख्यमंत्री के समक्ष बहिनियो द्वारा फील्ड टेस्ट किट से पानी का परीक्षण कर दिखाया गया। जिले में लगभग 2000 महिलाओ को जल बहिनी का दर्जा दिया गया है। उनके द्वारा जल संवर्धन एवं संरक्षण का कार्य, पानी परीक्षण, ग्रे वाटर मैनेजमेंट का कार्य किया जा रहा है।गंज मंडी परिसर में इन कार्यों का हुआ भूमिपूजन- 10 करोड़ रुपए के लागत की  70 निर्माण कार्य एवं 18 सड़क संधारण डामरीकरण कार्य, 21 करोड़ रुपए के लागत की नल जल योजना की 20 कार्य, 20 बिस्तर आइसोलेशन वार्ड 74 लाख रुपए तथा 70 लाख की लागत का हेल्थ ट्रांजिट हास्टल, पोटियाकला और धमधा नाका में 75 लाख रुपए की लागत से स्वास्थ्य केंद्र तथा 60 लाख रुपए की लागत से मैथिलीशरण गुप्त वाचनालय का जीर्णाेद्धार एवं उन्नयन शामिल है।

Share this story