मुख्य सचिव ने आकांक्षी जिलों में प्रगति की समीक्षा की
मुख्य सचिव ने आकांक्षी जिलों में प्रगति की समीक्षा की

रायपुर : मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने आज यहां मंत्रालय महानदी भवन से वीडियों कॉन्फ्रेंस के जरिये राज्य के दस आकांक्षी जिलो के कलेक्टर्स से निर्धारित मानक बिन्दुओं के अंतर्गत आने वाली केन्द्र एवं राज्य सरकार की योजनाओं के प्रगति की समीक्षा की। आकांक्षी जिलों में प्रमुख स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल कृषि एवं वित्तीय संसाधनों के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई। मुख्य सचिव ने आकांक्षी जिलों की मॉनीटरिंग कर रहे प्रभारी अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वे अपने आकांक्षी जिलों में पहुचकर योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करें। बैठक में वाणिज्य कर एंव सांख्यिकी योजना विभाग के प्रमुख सचिव  गौरव द्विवेदी मौजूद थे।


मुख्य सचिव ने राज्य के आकांक्षी जिला, बस्तर, बीजापुर, दंतेवाड़ा, कांकेर, सुकमा, कोण्डागांव, नारायणपुर, महासमुंद, राजनांदगांव एवं कोरबा के कलेक्टरों से आकांक्षी जिलों में से स्वास्थ्य सुविधाओं, कुपोषण दूर करने, स्कूलों में जरूरी व्यवस्थाओं एवं बच्चों को बेहतर शिक्षा, किसानों को उन्नत बीज एवं खाद की उपलब्धता, सिंचाई व्यवस्था, रोड, बिजली, एवं संचार कनेक्टीबिटी सहित अन्य योजनाओं का फायदा आकांक्षी जिले के लोगों को पहुचाने और उनकी आमदनी के लिए विशेष कार्य येाजना के तहत करने के निर्देश दिये। बैठक में ऊर्जा विभाग के सचिव अंकित आनंद, वन एवं वाणिज्य के सचिव  आर. सगीता, संचालक कृषि विभाग यशवंत कुमार, अनुसूचित जाति जनजाति विभाग की संचालक  शम्मी आबिदी एन आर डी ए के मुख्य कार्यपालन अधिकारी अयाज तम्बोली, संचालक स्वास्थ्य  नीरज बंसोड, संचालक राज्य खनिज विकास निगम जयप्रकाश मोयर्, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संचालक  प्रियंका शुक्ला सहित अन्य अधिकारी शामिल हुए।

Share this story