हनुमान जी एक भारत श्रेष्ठ भारत के सूत्र: पीएम मोदी
,

नई दिल्ली: आज हनुमान जयंती है और पूरे देश में इसे धूमधाम से मनाया जा रहा है, पीएम मोदी ने इस मौके पर गुजरात के मोरबी में भगवान हनुमान की 108 फीट की मूर्ति का अनावरण किया, पीएम मोदी ने इस दौरान लोगों को हनुमान जयंती की शुभकामनाएं दी, पीएम ने कहा कि पवनपुत्र की कृपा हर किसी पर बनी रहे।

प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक यह प्रतिमा हनुमानजी चार धाम परियोजना के तहत देश भर में चार दिशाओं में स्थापित की जा रही चार प्रतिमाओं में से दूसरी है, इसे मोरबी में बापू केशवानंद के आश्रम में स्थापित किया गया है।

यह देश के पश्चिमी दिशा की ओर स्थापित की गई प्रतिमा है, श्रृंखला की पहली प्रतिमा 2010 में शिमला में स्थापित की गई थी, ज्ञात हो कि मोरबी में विशाल मूर्ति का निर्माण 2018 में शुरू हुआ था, इसकी लागत 10 करोड़ रुपए है, पीएम मोदी वर्चुअल माध्यम से कार्यक्रम में शामिल हुए, वहीं, गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल और अन्य नेता कार्यक्रम स्थल पर मौजूद रहे।

बता दें, बीते दिनों देश के अलग-अलग राज्यों में हिंदू और मुस्लिमों के बीच हुई झड़प को देखते हुए हर जगह सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए हैं, देश में हाल के दिनों में हिंदू और मुस्लिम के बीच तनाव का माहौल कई बार बना, पहले मुंबई में मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने की मांग की, तो कर्नाटक में मंदिरों के आसपास से मुस्लिम दुकानदारों को हटाने और मुस्लिमों का बहिष्कार करने जैसे मामले सामने आए।

इनसे दोनों धर्म के लोगों के बीच तनाव की स्थिति उत्पन्न हुई, तनाव की स्थिति के बीच दोनों समुदाय के लोग कई बार एक दूसरे के सामने भी आ गए, बात चाहे राजस्थान के करौली की हो, बैंगलुरु की हो या फिर मध्य प्रदेश के खरगोन की हो, हर जगह स्थिति को कंट्रोल करने में प्रशासन को काफी चुनौती का सामना करना पड़ा।

महाराष्ट्र में अजान को लेकर लाउडस्पीकर से शुरू हुआ विवाद अब धीरे-धीरे देशभर में फैल रहा है, जगह-जगह अजान के खिलाफ हनुमान जयंती 2022 पर लाउडस्पीकर से हनुमान चालीस पाठ करने की बात कही जा रही है।

यह विवाद तब शुरू हुआ जब महाराष्ट्र में राज ठाकरे ने 3 मई तक मस्जिदों से लाउडस्पीकर उतारने का अल्टीमेटम तक सरकार को दे दिया, इसके बाद देशभर में इसको लेकर विवाद चल रहा है, अलीगढ़ में तो लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा का पाठ शुरू भी कर दिया गया है।

रामनवमी पर जुलूस के दौरान हुई झड़प और बाद में उसके दंगे के रूप में बदल जाने से राज्य सरकार अलर्ट है औऱ आज हनुमान जयंती पर हालात बिगड़ने की आशंका को देखते हुए उसने भोपाल में हाई अलर्ट जारी किया है।

यहां हनुमान जयंती पर जुलूस को लेकर खास शर्तें रखी गईं हैं, इन शर्तों के मुताबिक कोई भी समिति प्रशासन की अनुमति के बिना जुलूस नहीं निकाल सकेगी, वहीं जुलूस निकालने वाले आयोजकों को पुलिस की 16 शर्तों को पालन करना होगा, बता दें कि पुराने शहर के इतवारा-बुधवारा बेहद संवेदनशील इलाके हैं, यहां कुछ नियमों के तहत जुलूस निकालने की अनुमति प्रशासन ने दी है।

Share this story