स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर की व्यवस्थाओं का लिया जायजा
स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर की व्यवस्थाओं का लिया जायजा

भोपाल :  लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के रहवासियों को जिला अस्पताल की सुविधाएँ उपलब्ध करवाने टेलीमेडिसिन व्यवस्था का जायजा लिया। मंत्री डॉ. चौधरी ने रायसेन जिला के बनगंवा "आरोग्यम उप स्वास्थ्य केन्द्र (हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर) पहुँचकर आमजन की तरह स्वयं की जाँच करवाई। उन्होंने इलाज करवाने आए ग्रामीणों से  चर्चा की और व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि प्रदेश के सभी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर, ई-संजीवनी में टेली कंसल्टेशन के माध्यम से मरीजों को उनके घर के समीप, गाँव में  जिला अस्पताल के उपचार की व्यवस्थाएँ देने की अभिनव पहल की गई है। उन्होंने कहा कि सेंटर पर  शुगर, ब्लड प्रेशर, हिमोग्लोबिन आदि  जाँचे और 97 प्रकार की औषधियाँ निःशुल्क उपलब्ध है। ई-संजीवनी हेल्थ एंड वेलनेस सेन्टर में नियुक्त सीएचओ उपचार के लिए  आए मरीज से उसकी तकलीफ के बारे में पूछते हैं।  बीमारी के अन्य लक्षण की जानकारी लेकर  हब सेन्टर जिला अस्पताल में  विशेषज्ञ चिकित्सक को फोन पर  बताया जाता है। विशेषज्ञ चिकित्सक आवश्यक होने पर  मरीज से भी जरूरी जानकारी लेकर उपचार देते हैं।

 स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी को केन्द्र पर इलाज के लिए आए मरीजों ने बताया कि उनकी बात फोन पर जिला अस्पताल के चिकित्सक से हुई और विशेषज्ञ चिकित्सक ने दवाइयाँ बताई, जिसे केंद्र पर उपस्थित सीएचओ ने उन्हें प्रदान किया। 

मध्यप्रदेश देश का पाँचवां राज्य है, जिसने 10 हजार से अधिक  ईं-संजीवनी हेल्थ एंड वेलनेस सेन्टर स्थापित किए हैं। 9 हजार से अधिक केंद्र पर टेली मेडिसिन व्यवस्था से उपचार किया जा रहा है। एक अप्रैल 2022 से अब तक 2 लाख 24 हजार से अधिक मरीजों को टेली मेडिसिन से उपचार दिया गया है।

Share this story