संचार राज्य मंत्री चौहान ने विकास कार्यों की तारीफ की
संचार राज्य मंत्री चौहान ने विकास कार्यों की तारीफ की

दंतेवाड़ा :  केन्द्रीय संचार राज्य मंत्री  देवुसिंह चौहान ने आज आकांक्षी जिला दन्तेवाड़ा में चल रहे विकास कार्यों की जी भर के सराहना की, उन्होंने इसका श्रेय यहां के कलेक्टर  दीपक सोनी एवं उनकी पूरी टीम को दिया।  देवु ने कहा मेरी धारणा यहां आकर बदल गई है। दन्तेवाड़ा जिस तेजी से विकास की ओर अग्रसर है उससे यह लगता है कि यह आकांक्षी जिलों में पूरे देश में बाकी अन्य जिलों से हर क्षेत्र में अव्वल रहेगा। संचार मंत्री चौहान ने उक्त आशय के उदगार जिला कार्यालय के सभाकक्ष में विकास गतिविधियों की समीक्षा बैठक के दौरान व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि भारत में जीवन गुणवत्ता विभिन्न अन्तर्राष्ट्रीय और अन्तर जिला विविधताओं पर निर्भर करती है। अर्थव्यवस्था की इस विषमताओं को दूर करने के लिए जनवरी 2018 में आकांक्षी जिला कार्यक्रम लागू किया गया।

       चौहान ने कहा कि हमें अंतिम छोर तक विकास की मुख्यधारा मे लोगों को लाना है। वर्ष 2018 में नीति आयोग ने नीति बनाई। देश में 700 जिलों में सबसे ज्यादा पिछड़े जिले कौनसे हैं ऐसे 118 जिले चिन्हांकित कर यह तय किया गया कि इन जिलों में ऐसे कौन-कौन से काम किए जाए जिससे लोगों के जीवन स्तर में सुधार हो सके। वे आर्थिक रूप से आगे बढ़ सकें। जो बेस लाईन तय किया गया। उसमें स्वास्थ्य, शिक्षा, अधोसंरचना, कौशल विकास, रोजगार को शामिल किया गया और इसके लिए मानक तैयार किए गए हैं। चौहान ने कहा कि लोगों के जीवन स्तर में बदलाव लाने के लिए केन्द्र से फंड की कोई कमी नहीं होगी। यह जिला भी भारत के अन्य जिलों की भांति उनके समकक्ष कदमताल कर सके। समाज के अंतिम व्यक्ति तक इसका प्रत्यक्ष लाभ मिल सके। यही अंत्योदय की भावना है।  चौहान ने आजादी के अमृत महोत्सव के चलते मनरेगा के तहत् 75 सरोवर तैयार करने का संकल्प प्रशासन को दिया। उन्होंने कहा कि हर गांव में एक सरोवर हो। ऐसे कुल 75 सरोवर तैयार किए जाएं। प्रत्येक तालाब में एक पेड़ अर्थात् 75 पेड़ सभी मिलकर लगाएं और यह कार्य मनरेगा के तहत् किया जाए।  चौहान ने समीक्षा बैठक में केन्द्र सरकार की समस्त योजनाओं की बारिकी से पड़ताल की। बैठक में स्वास्थ्य, शिक्षा, अधोसंरचना इत्यादि के बारे में विस्तृत चर्चा की गई। हाट बाजार क्लीनिक की जानकारी लेते हुए हाटबाजार क्लिनिक में नेट कनेक्टिविटी देकर आयुष्मान कार्ड बनाने में तेजी लाने के निर्देश दिए। हर ग्राम पंचायतों में भारत इंटरनेट कनेक्शन पहुंचाने की बात कही गई। पीपीटी के जरिए कलेक्टर  दीपक सोनी ने अवगत कराया कि शिक्षा विभाग द्वारा चलाये जा रहे ज्ञान गंगा प्रोजेक्ट के तहत् किस तरह कोरोना की अनुचित परिस्थितियों में भी बच्चों की पढ़ाई पर विशेष कार्य हुए जिससे 7 बच्चों का एमबीबीएस एवं 10 बच्चों का एनआईटी एवं आईआईटी में चयन किया गया। शसक्त दंतेवाड़ा ई लाइब्रेरी के द्वारा कोई भी बच्चा बुक इशू कर एक ही प्लेटफॉर्म पर बुक पढ़ सकते हैं। कृषि क्षेत्रों में 20800 किसान है जिसमें से 14 हजार किसानों का जैविक प्रामाणिकरण किया जा चुका है। रागी, कोदो, कुटकी के लगभग 6 हजार किसान हैं। उनके आर्थिक संवर्धन के लिए बड़े सुरोखी में मिलेट प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित की जा रही है। जिले में रागी कोदो कुटकी के साथ मक्का की भी खरीदी की जा रही है। जिले में 588 किसान है जो आम का उत्पादन करते हैं जिनका जिले का अपना ब्रांड डेनैक्स के माध्यम से विक्रय किया जा रहा है। प्रधानमंत्री सूक्ष्म लघु उद्योग उन्नयन योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्माननिधि योजना, जल जीवन मिशन इत्यादि की जानकारी दी गई।

 चौहान को अवगत कराया गया कि जिले में आत्मसमर्पित नक्सलियों को रोजगार देकर मुख्यधारा से जोड़ा जा रहा है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना तहत अंदरूनी क्षेत्रों तक सड़कों का निर्माण कर आम नागरिकों को सुविधाएं दी जा रही हैं। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजनांतर्गत लोगों को रोजगार से जोड़ा जा रहा है। हर गाँवों में सभी सुविधाएं उपलब्ध हो इसके लिए ग्राम स्वरोजगार केंद्र के तहत शून्य प्रतिशत ब्याज पर अधिकतम 1 लाख की राशि प्रदान की जाती है। वन बहुल्य क्षेत्र होने के कारण इमली और महुआ का प्रोसेसिंग कर वैल्यू एडिशन किया जा रहा है। जिले में 14 दंतेश्वरी ट्राइबल मार्ट है जिससे समूह की दीदियों को रोजगार और बच्चों को गुणवत्ता युक्त सामग्री प्रदान की जा रही है। पर्यटन संग स्वरोजगार के तहत पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा मिलने के साथ लोगों को स्वरोजगार मिल रहा है। भारत संचार राज्य मंत्री देवुसिंह चौहान ने अपने उद्बोधन में कहा कि दंतेवाड़ा जिला आकांक्षी जिलों में सबसे आगे है। यहाँ सभी अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के माध्यम से यह सम्भव हुआ है इसके लिए खुशी जाहिर की। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य हो या शिक्षा, इंफ्रास्ट्रक्चर हो या कौशल विकास हर क्षेत्र में लोगों के जीवन स्तर में बदलाव आया है। इस अवसर पर विधायक  देवती महेंद्र कर्मा ने कहा कि पहले जिला पिछड़ा था अब सभी की मेहनत से आगे बढ़ रहा है। जिला पंचायत अध्यक्ष तुलिका कर्मा ने कहा कि अब दंतेवाड़ा जिला सभी के समन्वय से हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है। लोगों को स्वरोजगार मिल रहा है और जिले के आखिरी गांव तक लाभ पहुंचाया जा रहा है। बैठक में जनपद पंचायत अध्यक्ष  सुनिता भास्कर, नगर पालिका अध्यक्ष पायल गुप्ता, अन्य जनप्रतिनिधिगण, कलेक्टर  दीपक सोनी, वनमंडलाधिकारी संदीप बलगा, अपर कलेक्टर  संजय कन्नौजे, एसडीएम अबिनाश मिश्रा एवं समस्त अधिकारीगण उपस्थित थे।

Share this story