दो टेक्सटाइल और एक टॉय क्लस्टर के विकास के लिए देंगे आवश्यक सहायता
दो टेक्सटाइल और एक टॉय क्लस्टर के विकास के लिए देंगे आवश्यक सहायता

भोपाल :  मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में क्लस्टर आधारित विशेष औद्योगिक इकाइयों की स्थापना से जरूरतमंद लोगों को रोजगार देने का कार्य होगा। इस नाते प्राप्त ठोस प्रस्तावों को प्राथमिकता से क्रियान्वित किया जाएगा। निवेश और रोजगार राज्य सरकार की प्राथमिकता है। बुरहानपुर जिले में दो टेक्सटाइल क्लस्टर और इंदौर में एक टॉय क्लस्टर से लोगों को रोजगार मिलेगा। क्लस्टर्स में औद्योगिक इकाइयों की स्थापना और विकास के लिए नीतियों और प्रावधानों के तहत आवश्यक सहायता दी जाएगी।

मुख्यमंत्री  चौहान ने यह बात आज मंत्रालय में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विभाग (एमएसएमई) द्वारा फेयरडील बुरहानपुर क्लस्टर, सुखपुरी बुरहानपुर टेक्सटाइल क्लस्टर और टॉय क्लस्टर रंगवासा इंदौर के प्रजेंटेशन के अवसर पर कही। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि बुरहानपुर में करीब 4 हजार लोगों को रोजगार देने के लिए 220 करोड़ रूपए के संभावित निवेश के लिए पूर्ण सहयोग दिया जाएगा। इस क्लस्टर में 105 इकाइयों की स्थापना प्रस्तावित है। अधो-संरचनात्मक विकास के लिए भी लगभग 20 करोड़ रूपए की राशि व्यय प्रस्तावित है। क्लस्टर में टेक्सटाइल इकाइयों को विकास के लिए ब्याज अनुदान सुविधा एवं अन्य आवश्यक रियायतें देने पर विचार किया जाएगा। बैठक में बताया गया कि सुखपुरी बुरहानपुर टेक्सटाइल क्लस्टर की स्थापना पर लगभग 952 करोड़ रूपए का निवेश संभावित है। यहाँ 250 इकाइयों के माध्यम से 07 हजार से अधिक लोगों को रोजगार का प्रस्ताव है। इसी तरह इंदौर के रंगवासा टॉय क्लस्टर में अनुमानित 70 करोड़ रूपए का निवेश 3400 लोगों को रोजगार देने में सहायक होगा। इस क्लस्टर में 20 इकाइयों की स्थापना प्रस्तावित है।

मुख्य सचिव  इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन  संजय कुमार शुक्ला, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव  मनीष रस्तोगी, मुख्यमंत्री के सचिव एम. सेल्वेन्द्रन और सचिव सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम पी. नरहरि उपस्थित थे।

Share this story