प्रभु भक्ति में मग्न होकर तीर्थ-यात्रियों का बीता पहला दिन
प्रभु भक्ति में मग्न होकर तीर्थ-यात्रियों का बीता पहला दिन

भोपाल : प्रदेश के श्रवण कुमार मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान ने हरी झंडी दिखाकर मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना की पहली ट्रेन को आज रवाना किया। प्रदेश के तीर्थ-यात्रियों के लिए मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना एक बार पुनः प्रारंभ हुई। संस्कृति पर्यटन और धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री उषा ठाकुर स्वयं तीर्थ-यात्रियों की सेवा के लिए ट्रेन में यात्रा कर रही है। शाम 6 बजे करीब तीर्थ-यात्रियों की ट्रेन सागर रेलवे स्टेशन पहुँची। मंत्री  ऊषा ठाकुर ने सागर, टीकमगढ़ और दमोह जिले के तीर्थ-यात्रियों का फूल माला से स्वागत किया। इस दौरान क्षेत्रीय विधायक  प्रदीप लारिया भी मौजूद रहे। रेलवे स्टेशन सागर से दमोह, सागर और टीकमगढ़ के यात्री काशी विश्वनाथ की तीर्थ-यात्रा में शामिल हुए।

सुंदरकांड और संध्या वंदन का हुआ आयोजन

मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना ट्रेन में सवार होकर तीर्थ-यात्रियों के साथ जा रही मंत्री  उषा ठाकुर ने तीर्थ-यात्रियों के साथ सुंदरकांड का पाठ और संध्या वंदन किया। प्रभु भक्ति में मग्न होकर मंत्री ठाकुर ने भी यात्रियों के साथ यात्रा को पूर्णता दी।

भगवान भोलेनाथ का भजन कीर्तन करते नजर आए तीर्थ-यात्री

मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना में काशी विश्वनाथ का दर्शन करने जा रहे तीर्थ-यात्रियों के खुशी का ठिकाना नहीं रहा। ट्रेन के डिब्बे में सवार तीर्थ-यात्री भगवान काशी विश्वनाथ का भजन गाते और झूमते नजर आए। ट्रेन का मुख्य आकर्षण भजन मंडलियों ने प्रभु भजन गाकर ट्रेन में भक्तिमय माहौल बना दिया। सभी यात्रियों ने भी छोटे-छोटे समूह में भगवान के भजन गाए। 

यात्रा के दौरान सभी तीर्थ-यात्रियों को दोपहर का भोजन, चाय नाश्ता और रात का खाना दिया गया। तीर्थ-यात्रियों को कोई परेशानी न हो इसके लिए बकायदा ट्रेन में डॉक्टर की भी व्यवस्था की गई है।

काशी विश्वनाथ का दर्शन करने जा रही भोपाल निवासी 65 वर्षीय केसर बाई का कहना है कि उनका बेटा ऑटो चलाता है। उसे इतनी आय नहीं हो पाती कि वह तीर्थ-यात्रा पर जा सके। मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान को उन्होंने धन्यवाद दिया है और कहा है कि इसी तरह से यह ट्रेन चलती रहे और प्रदेश के हर बूढ़े बुजुर्ग का आशीर्वाद शासन को मिलता रहे।

Share this story