मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना की पुनः शुरूआत करने के लिये जनता ने जताया CM चौहान का आभार
मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना की पुनः शुरूआत करने के लिये जनता ने जताया CM चौहान का आभार

भोपाल : मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना की पुनः शुरूआत से एक बार फिर 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोग निःशुल्क तीर्थ-दर्शन कर सकेंगे। चिकित्सा शिक्षा मंत्री  विश्वास कैलाश सारंग के निवास पर रविवार को नरेला विधानसभा क्षेत्र के 150 तीर्थ- यात्री को तीर्थ-यात्रा कार्ड वितरित किये गये।

मंत्री  सारंग ने कहा कि मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा गरीब कल्याण एवं जनहितैषी विभिन्न योजनाएँ संचालित की गई हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना में 60 वर्ष से अधिक आयु के वृद्धजन जो आर्थिक कमी के चलते तीर्थ-दर्शन करने से वंचित रह जाते थे, ऐसे सभी बुजुर्गों के लिये मध्यप्रदेश सरकार श्रवण कुमार के रूप में कार्य कर रही है।

मंत्री  सारंग ने कहा कि पिछली सरकार के 15 महीने के कार्यकाल में गरीब कल्याण की इस योजना को बंद कर दिया गया था। मुख्यमंत्री चौहान की अध्यक्षता में पचमढ़ी में हुई मंत्रि-परिषद की चितंन बैठक में मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना को पुनः प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया। 

लाभार्थियों ने सीएम चौहान को बताया श्रवण कुमार

मंत्री सारंग के निवास पर आयी तीर्थ-दर्शन योजना की लाभार्थी नरेला विधानसभा की करोंद निवासी सावित्री बाई ने मुख्यमंत्री चौहान एवं मंत्री  सारंग का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि योजना को पुनः प्रारंभ कर सरकार ने पुण्य का काम किया है। मुख्यमंत्री  चौहान हमारे श्रवण कुमार बन कर हमें तीर्थ पर ले जा रहे हैं। 

उल्लेखनीय है कि 19 अप्रैल को मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना में प्रदेश से कुल 976 लाभार्थी काशी-विश्वनाथ तीर्थ के दर्शन के लिये रवाना होंगे। मुख्यमंत्री  चौहान भोपाल के रानी कमलापति स्टेशन से दर्शन के लिए पहली ट्रेन को रवाना करेंगे।

Share this story