गांधीग्राम कुलगांव का केन्द्रीय राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह ने किया अवलोकन
गांधीग्राम कुलगांव का केन्द्रीय राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह ने किया अवलोकन

उत्तर बस्तर कांकेर :  विकासखण्ड कांकेर अंतर्गत गांधीग्राम कुलगावं में महिला स्व-सहायता समूह के माध्यम से विभिन्न आर्थिक गतिविधियां संचालित की जा रही है, जिसका अवलोकन केन्द्रीय राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय (भारत सरकार) द्वारा किया गया। महिलाओं एवं ग्रामीणों के आर्थिक उन्नयन के लिए किये जा रहे प्रयासों के लिए उन्होंने राज्य शासन एवं जिला प्रशासन के कार्यों की तारीफ किया। निरीक्षण के दौरान सांसद मोहन मण्डावी, पूर्व सांसद विक्रम देव उसेण्डी, पूर्व विधायक  सुमित्रा मारकोले, सतीश लाटिया, जनपद अध्यक्ष  रामचरण कोर्राम,  भरत मटियारा, बृजेश चौहान, बिरेन्द्र श्रीवास्तव, जनपद सदस्य राजेश भास्कर,  रमाशंकर दर्रो, ग्राम पंचायत के सरपंच  कमलेश पदमाकर, कलेक्टर  चन्दन कुमार, जिला पंचायत सीईओ  सुमित अग्रवाल सहित ग्रामीणजन उपस्थित थे।

           राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा द्वारा गांधीग्राम कुलगांव में स्थापित मछली आहार निर्माण इकाई, रागी प्रोसेसिंग यूनिट, दाल मिल, बकरी पालन इकाई, मशरूम उत्पादन इकाई, केज सिस्टम द्वारा लेयर फार्मिंग, मशरूम स्पॉन उत्पादन इकाई, हाथ करघा बुनाई प्रशिक्षण केन्द्र सहित गौठान में गोबर की खरीदी और वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण इत्यादि का अवलोकन किया गया, इन सभी इकाईयों का संचालन महिला स्व-सहायता समूहों के सदस्यों द्वारा किया जा रहा है, जिससे उन्हें आर्थिक आमदनी प्राप्त हो रही है। केन्द्रीय राज्य मंत्री  वर्मा ने इस अवसर पर महिला स्व-सहायता समूह के से चर्चा कर  इकाईयों के संचालन की जानकारी ली। उन्होंने एनजीओ तथा महिला स्व-सहायता के सदस्यों से चर्चा भी किया तथा उन्हें आत्मनिर्भर बनने के लिए योजनाओं का लाभ उठाने की समझाईश दी। उन्होंने कहा कि लोगों की आमदनी बढ़े, उनके जीवन में बदलाव आये, इसके लिए सब मिलकर कार्य करना होगा। सांसद मोहन मण्डावी एवं पूर्व सांसद  विक्रम देव उसेण्डी ने भी महिला स्व-सहायता समूहों को संबोधित करते हुए विभिन्न आर्थिक गतिविधियों से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि यहां से सीख कर जायें और उसे अपने गांव में अपनायें। स्वरोजगार स्थापित कर आत्मनिर्भर बनें और अन्य लोगों को भी रोजगार दें।

              उल्लेखनीय है कि गांधीग्राम कुलगांव में मछली आहार निर्माण इकाई स्थापित की गई है, जिसका संचालन पूजा स्व-सहायता समूह के सदस्यों द्वारा किया जा रहा है। इसी प्रकार रागी प्रोसेसिंग यूनिट लगाई गई है, जिसमें रागी (मड़िया) को पीसकर आटा बनाया जा रहा है, जिसे हलवा के रूप में आंगनबाड़ी के बच्चों को खिलाया जाता है। मॉ भवानी स्व-सहायता समूह के महिलाओं द्वारा बकरी पालन का कार्य किया जा रहा है, समूह को जिला प्रशासन द्वारा 20 बकरी एवं 02 बकरा उपलब्ध कराया गया है। लक्ष्मी स्व-सहायता समूह के महिलाओं द्वारा मशरूम उत्पादन का कार्य किया जा रहा है। शीतला स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा केज सिस्टम द्वारा लेयर फार्मिंग की जा रही है। गांधीग्राम कुलगांव के गौठान में गोबर खरीदी भी किया जा रहा है, अब तक 272 क्विंटल गोबर खरीदी होने की जानकारी कृषि विभाग के उप संचालक द्वारा दिया गया।

Share this story