UP: सपा विधायक का दावा- पूर्व डिप्टी CM दिनेश शर्मा SP में आने का कर रहे प्रयास
त

नई दिल्ली: शिवपाल यादव और आजम खान को लेकर चल रही चर्चाओं के बीच लखनऊ मध्य से सपा विधायक रविदास मेहरोत्रा ने कहा है कि सपा में कोई अंतर्विरोध नहीं है, उन्होंने कहा कि सभी विधायक और नेता अखिलेश यादव साथ हैं।

बीजेपी बिना आधार के कुछ लोगों के बारे में झूठा प्रचार और अफवाह फैला रही है, शिवपाल भी अभी तक सपा विधानमंडल के दल के सदस्य हैं।

रविदास मेहरोत्रा ने कहा कि बीजेपी के तमाम नेता सपा में आने के लिए बातचीत कर रहे हैं, पूर्व डिप्टी सीएम डॉ, दिनेश शर्मा भी सपा में आने का प्रयास कर रहे हैं, बीजेपी के ऐसे विधायक भी जो 10 बार चुनाव जीते लेकिन मंत्री नहीं बन पाए या सिर्फ मंत्री ही हैं।

बृजेश पाठक दो बार में डिप्टी सीएम बन गए वे इसे लेकर आक्रोश में हैं, रमापति शास्त्री आज मंत्री भी नहीं हैं उनमें कितनी कुंठा है जबकि बसपा से आये बृजेश पाठक को दो बार में डिप्टी सीएम बना दिया गया।

मेहरोत्रा ने कहा सुरेश खन्ना भी सिर्फ मंत्री ही हैं और बृजेश पाठक डिप्टी सीएम बन गए, रविदास ने कहा कि दिनेश शर्मा डिप्टी सीएम और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहे लेकिन अब उन्हें निकाल दिया गया, शिवपाल यादव, ओपी राजभर, जयंत चौधरी सहयोगी दलों के नेता हैं, वे अपनी अपनी पार्टी के अध्यक्ष हैं।

मेहरोत्रा ने कहा, जो लोग यहां उपस्थित थे वे अखिलेश यादव की बैठक में पहुंचे थे, सीएम से शिवपाल की मुलाकात पर उन्होंने कहा कि कोई व्यक्तिगत काम से सीएम से मिले तो इसका अर्थ ये नहीं कि वो उस पार्टी में जा रहा है, सपा विधायक ने कहा, वे क्षेत्र की समस्याओं को लेकर सीएम से मिलने जा सकते हैं।

मेहरोत्रा ने आजम खान के मुद्दे पर कहा कि, सपा ने पूरे चुनाव में आजम खान की गिरफ्तारी का मुद्दा उठाया, अखिलेश के रथ में आजम खान की फोटो थी, सपा ने तय किया था कि एक परिवार में दो लोगों को टिकट नहीं देंगे लेकिन आजम खान और उनके बेटे दोनों को टिकट दिया, दोनों को जिताने के लिए पूरी ताकत लगाई, अखिलेश यादव उनके प्रचार में गए।

मेहरोत्रा ने कहा, आजम खान को लेकर भी बीजेपी अफवाह फैला रही है, हम सरकार को मजबूर करेंगे कि आजम को विधानसभा सत्र में बुलाया जाये, मुख्य मुद्दों से ध्यान बांटने का काम हो रहा है, सपा के भी कई नेता आजम खान से जेल में मिलने गए, प्रदेश सरकार नफरत और बदले की भावना से काम कर रही है, सपा के कई वकील आजम खान को रिहा कराने का प्रयास कर रहे हैं।

Share this story