यूपी चुनाव 2022: स्वामी प्रसाद मौर्य सहित भाजपा के विधायक SP में शामिल
swami

लखनऊ (यूपी): यूपी में चुनाव से भाजपा के कई नेता सपा में शामिल हुए, सपा में स्वामी प्रसाद मौर्य, धर्म सिंह सैनी, बृजेश प्रजापति, भगवती प्रसाद सागर, मुकेश वर्मा, रोशन लाल वर्मा, विनय शाक्य, अपना दल के चौधरी अमर सिंह, युसुफ अली, नीरज मौर्य, हरपाल सैनी शामिल हो रहे हैं।

इसके साथ ही बलराम सैनी, राजेंद्र प्रताप सिंह पटेल, अयोध्या प्रसाद पाल, बंशी सिंह पहड़िया, अमर नाथ सिंह मौर्य, प्रदीप चौधरी पार्टी में शामिल हुए, मंत्री पद छोड़ने वाले दारा सिंह चौहान अलग से 16 जनवरी को अपने समर्थकों के साथ सपा की सदस्यता लेंगे।

यूपी में लगी आचार संहिता के बीच वर्चुअल रैली के माध्यम से ये सभी नेता आज सपा में शामिल हुए, इस रैली में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव मौजूद रहे, तमाम नेताओं के पार्टी में शामिल होने के बाद स्वामी प्रसाद मौर्य ने अखिलेश यादव का पगड़ी पहना कर सम्मान किया।

धर्म सिंह सैनी ने कहा कि अगर कोरोना के प्रतिबंधन ना होते तो 10 लाख से ज्यादा लोगों की रैली कर के अखिलेश यादव का स्वागत किया जाता, उन्होंने अखिलेश को साल 2022 में यूपी का सीएम और साल 2024 में देश का पीएम बनाने की बात कही।

नेताओं की लिस्ट जिन्होंने आज सपा ज्वाइन किया

भगवती सागर, बागी विधायक बिल्हौर कानपुर

विनय शाक्य, बाकी विधायक बिधूना औरैया

रौशन लाल वर्मा, तिलहर शाहजहपुर

मुकेश वर्मा, बागी विधायक शिकोहाबादब्रजेश कुमार प्रजापति, विधायक तिंदवारी बंदा

चौधरी अमर सिंह, विधायक शौहरतगढ अपना दल एस

अली युसूफ, पूर्व विधायक

राम भर्ती, पूर्व मंत्री

नीरज मौर्य, पूर्व विधायक

हरपाल सैनी, पूर्व एमएलसी मेरठ

बलराम सैनी, पूर्व विधायक मुरादाबाद

राजेंद्र प्रताप सिंह, पूर्व विधायक मिर्जापुर

विद्रोही मौर्य, पूर्व राज्य मंत्री

पदम सिंह, मुख्य सुरक्षा अधिकारी

बंसी सिंह पहाड़िया, पूर्व विधायक

अमरनाथ मौर्य, अध्यक्ष सहकारिता बैंक

मौर्य ने कहा कि आज का दिन भाजपा के अंत का इतिहास लिखने जा रहा है, मौर्य ने कहा कि  आज बीजेपी के बड़े नेता जो कुंभकर्णी नींद सो रहे थे, जिनको कभी नेताओं, विधायकों और सांसदों से बात करने का वक्त नहीं मिता था, आज उनकी नींद हराम हो गई है, उनको नींद ही नहीं आ रही है।

मौर्य ने कहा बीजेपी के कुछ लोगो कहते  हैं पांच साल तक इस्तीफा क्यों नहीं दिया? कुछ लोग यह भी कहते हैं बेटे के चक्कर में बीजेपी छोड़ी,,, मैं ऐसे लोगों से कहना चाहता हूं कि बीजेपी के लोगों ने दलितों, पिछड़ों, अल्पसंख्यकों और मजलूमों की आंख में धूल झोंककर सत्ता हासिल की थी।

उन्होंने दावा किया कि पिछले चुनाव में दावा किया जा रहा था या तो केशव प्रसाद मौर्य या तो स्वामी प्रसाद मौर्य सीएम होंगे ,,,, लेकिन पहले तो गाजीपुर से नेता को सीएम बनाने की कोशिश की गई,,,फिर गोरखपुर के नेता को सीएम बना दिया, सरकार पिछड़े लोग बनाएं और मलाई अगड़े खा रहे हैं, मौर्य ने कहा आज के बाद ऐसी आंधी चलेगी जिससे बीजेपी के परखच्चे उड़ जाएंगे।

मौर्य ने कहा जिसका मैं साथ छोड़ता हूं, उसका कहीं अता-पता नहीं रहता है, हमारी बहन जी इसका मिसाल हैं, उन्होंने कहा कि मैं जब बसपा में था, वह नंबर 1 थी, बीजेपी नंबर 3 पर थी, मैं बीजेपी में गया तो वह नंबर 1 पर चली गई,  मौर्य ने कहा कि 10 मार्च को जब परिणाम आएंगे तो भाजपा फिर से साल 2017 के पुराने आंकड़े पर पहुंच जाएंगी, सपा नेता ने कहा कि अब प्रदेश को बीजेपी के शोषण से मुक्त करने का समय आ गया है।

अखिलेश यादव ने सीएम योगी क्रिकेट खेलना नहीं जानते,,, अगर वह क्रिकेट खेलना जानते भी तब भी उनसे कैच छूट गया है, उन्होंने कहा कि जो लोग तीन चौथई की बात कर रहे थे, उनकी सच्चाई यह है कि वह तीन और चार सीट की बात कर रहे थे, सपा नेता ने कहा कि जिस समय खाद की जरूरत थी तो सरकार उस समय मुहैया नहीं करा पाई, खाद मिली भी तो उसमें कमी ही रही, भाजपा गरीबों की जेब काटकर अमीरों की तिजोरी भर रही है।

उन्होंने कहा जनता परिवर्तन चाहती है, सम्मान के लिए लड़ रहे युवाओं को लाठी मारी गई,  अखिलेश ने कहा कि यह चुनाव फाइनल है, किसी ने नहीं सोचा था कि मौर्य अपनी पूरी टीम के साथ सपा में आ जाएंगे।

Share this story